Loading...

Follow AstroVidhi on Feedspot

Continue with Google
Continue with Facebook
or

Valid

पारद को भगवान शिव का ही स्वरुप माना गया है। इस धातु से बना शिवलिंग सभी धातु से बने शिवलिंग से अधिक लाभकारी एवं सर्वश्रेष्ठ होता है। पारद यानि पारे को प्राकृतिक रूप से प्रबल ऊर्जा प्रदान करने वाला रासायनिक तत्व कहा गया है। जो लोग भगवान शिव की पूजा करते है तथा अध्यात्म की राह पर चलना चाह्ते है उनको महाशिवरात्री के शुभ दिन पारद शिवलिंग की स्थापना अपने घर में अवश्य करनी चाहिए।

महापुराण में पारे का बहुत महत्व है इसे भगवान शिव का वीर्य कहा गया है। हजारों स्वर्ण मुद्राओं के दान तथा चारों तीर्थों का जो पुण्य मिलता है वह फल इसके दर्शन मात्र से ही मिलता है। महाशिवरात्री के दिन पारद शिवलिंग की स्थापना अपने घर में अवश्य करनी चाहिए।

महाशिवरात्री हिन्दुओं के पवित्र पर्वों में से एक है। यह पर्व फाल्गुन मास की कृष्ण पक्ष की चतुर्दशी के दिन मनाया जाता है। अंग्रेजी कैलेंडर के अनुसार महाशिवरात्री फरवरी या मार्च महीने में मनाई जाती है। मान्यता है की इस दिन अगर हम सच्चे मन से अपने घर में पारद शिवलिंग की स्थापना करते है तो भगवान शिव हमारी सभी मनोकामनाएं पूर्ण करते है। पारद शिवलिंग अपने आप में एक दिव्य पूजा है।

आइए जानते है जीवन को सुखी-समृद्धिशाली बनाने के लिए महाशिवरात्री के दिन पारद शिवलिंग की स्थापना और पूजा करने से क्या लाभ होते है।

कर्ज से मुक्ति और धन-वैभव की प्राप्ति के लिए

पारद शिवलिंग की स्थापना से दरिद्रता दूर होती है, कर्ज से मुक्ति मिलती है तथा व्यापार-व्यवसाय में लाभ होता है। जीवन में बदलाव आता है, धन-वैभव की प्राप्ति होती है।

आत्मविश्वास में वृद्धि के लिए

यदि आपके अन्दर आत्मविश्वास की कमी है, आप किसी भी कार्य को करने से पहले ही हार मानते है या लोगों की नजरों में आप डरपोक है, आप अपनी बातों को लोगों के सामने पेश नहीं कर पा रहे हो तो बिना देर किये महाशिवरात्री के दिन आपको नियमित रूप से पारद शिवलिंग की पूजा करनी चाहिए, उसके पश्चात आपके आत्मविश्वास में वृद्धि देखने को मिलेगी।

Daily Horoscope

दवाओं का काम करता है

पारा दवाइयों का काम भी करता है। जो लोग हाई ब्लडप्रेशर, डायबिटीज के शिकार होते है उनको पारद शिवलिंग की पूजा करने से फायदा होता है परन्तु इससे पहले आयुर्वेदाचार्यों की राय अवश्य लें।

नकारात्मक ऊर्जा से बचाव

जब किसी भी तरह की कोई मुसीबत आने वाली होती है तो पारद शिवलिंग उस मुसीबतों से हमें बचाते है और स्वयं वो मुसीबत अपने ऊपर लेते है। इसके पूजन से नकारात्मक ऊर्जा हमारे आसपास भटक भी नहीं सकती।

पद-प्रतिष्ठा की प्राप्ति के लिए

नौकरी-व्यवसाय में अच्छा पद प्राप्त कर मान-सम्मान पाने के लिए पारद शिवलिंग बहुत ही कारगार होता है। इसकी नियमित पूजा करने से कामकाज में तरक्की होती है तथा हम अपने प्रतिद्वंद्वी को पछाड़ने में कामयाब होते है।

Weekly Horoscope

वास्तुदोष से मुक्ति के लिए 

पारद शिवलिंग की स्थापना से वास्तुदोष से मुक्ति मिलती है। तंत्र-मन्त्र के दोष सभी समाप्त हो जाते है। इसमें इतना अद्भुत गुण होता है की घर के सौ फीट तक इसका प्रभाव रहता है इसका मतलब आपके घर पर किसी का भी बुरा साया नहीं पड़ता और बुरी नजर और जादू टोने से आपका बचाव होता है। पारद शिवलिंग की स्थापना जिस घर में होती है वहा सभी सुख-सुविधाओं का वास होता है।

अभिमंत्रित पारद शिवलिंग आर्डर करें

बच्चों के लिए वरदान

जो बच्चे अपने माता-पिता का कहना नहीं मानते, बड़ों का अनादर करते है, पढाई में कमजोर होते है उनको पारद शिवलिंग की पूजा अवश्य करनी चाहिए, तथा दूध या पानी से जब आप इस शिवलिंग का अभिषेक करते हो तब वह दूध या पानी बच्चों को पिलाने से बच्चों के स्वभाव में बदलाव आता है, ये बच्चों के लिए किसी वरदान से कम नहीं है।

Monthly Horoscope

The post अपार धन प्राप्ति के लिए महाशिवरात्रि पर करें पारद शिवलिंग की पूजा appeared first on AstroVidhi.

Read Full Article
  • Show original
  • .
  • Share
  • .
  • Favorite
  • .
  • Email
  • .
  • Add Tags 
राशि रत्‍न (Rashi Stone)-

राशि व्यक्ति के जीवन का आइना होती है, जीवन में कई बार ऐसा समय आ जाता है, जिसमे व्यक्ति अपने आप को नि:सहाय एवं बेबस पाता है, जब हम खुद को बेबस और असहाय महसूस करते है, तब जीवन बद से बदतर लगने लगता है, जीवन जीने का मोह ख़त्म सा होने लगता है। इस तरह की स्थिति से मुक्ति पाने के लिए ही ईश्वर ने इस धरती पर कई चमत्कारिक रत्न भेजे है, जिन्हें प्राचीन काल से ही हमारे ऋषि मुनियों ने विभिन्न 12 राशियों के अनुसार बांटे है।

कई लेखों के माध्यम से भी यह बताया गया है कि यदि कोई जातक अपनी राशि अनुसार सही रत्न धारण करता है तो उसके जीवन में आने वाली सभी समस्याओं से उसको बहुत ही जल्दी मुक्ति मिलती है। हर राशि का अपना अलग स्वभाव होता है, उसी तरह हर रत्न का भी अपना प्रभाव होता है। वैसे तो ग्रहों की शांति के लिए राशि अनुसार कई उपाय ज्योतिष शास्त्र में बताए गये है परन्तु इन समस्याओं का हल रत्न धारण कर के भी किया जा सकता है। आज हम आपको बताने जा रहे है कि किस राशि के जातक के लिए कौन-सा रत्न शुभ रहेगा, जिसकी सहायता से उसके जीवन में खुशियों की बहार आ जायेगी।

मेष राशि रत्न 

मेष राशि के लोगों के अंदर क्रोध अधिक होता है, इस राशि के जातक छोटी-छोटी बातों का बतंगड़ बनाते है तथा बहुत जल्दी उत्तेजित होते है। यह जातक बहुत ही जिद्दी स्वभाव के होने के कारण कई बार अपना ही नुकसान कर बैठते है। मेष राशि के ऐसे लोगों के लिए ही मूंगा रत्न है। मूंगा रत्न सौरमंडल में स्थित सबसे आक्रामक ग्रह माने जाने वाले मंगल ग्रह का रत्न है। मंगल मेष राशि का अधिपति ग्रह माना जाता है।

मेष राशि के जातकों को मूंगा धारण करने से लाभ होता है। इस रत्न के प्रभाव से जातक का दिमाग शांत रहता है। उसके जीवन में आनेवाले सभी कष्ट दूर होते है। कुंडली में मंगल की शक्ति को और अधिक प्रभावशाली और मजबूत करने के लिए मूंगा रत्न धारण किया जाता है। शिक्षा प्राप्ति के लिए भी यह रत्न धारण किया जाता है। स्रियों में रक्त की कमी, मासिक धर्म और रक्तचाप जैसी परेशानियों को नियंत्रित करने में मूंगा रत्न अत्यंत लाभकारी होता है। यानि की महिलाओं के लिए यह रत्न अत्यंत लाभकारी है। पुलिस, आर्मी या प्रशासनिक नौकरी की इच्छा रखनेवाले लोगों को यह रत्न अवश्य धारण करना चाहिए। मेष राशि के जातक भूलकर भी हीरा धारण न करें।

अभिमंत्रित मूंगा रत्न आर्डर करें

 वृषभ राशि रत्न 

वृषभ राशि के जातक बहुत धैर्यवान होते है, लेकिन यह लोग बहुत भावुक भी होते है। स्वभाव से अत्याधिक भावुक होना ही इन जातकों की सबसे बड़ी कमी होती है। ये लोग किसी पर भी बहुत जल्दी भरोसा कर लेते है और धोखा खाते है, इसलिए ऐसे लोगों को ओपल रत्न धारण कर लेना चाहिये। ओपल शुक्र का रत्न है और शुक्र धन-धान्य और भोग विलास का कारक है। शुक्र वृषभ राशि का अधिपति ग्रह है।

वृषभ राशि के लोगों को शुक्र के रत्न ओपल को धारण करने से बहुत ही लाभ होता है। किडनी स्टोन जैसी बीमारी को दूर करने के लिए ओपल रत्न को धारण किया जाता है।

प्रेम संबंधों में प्रगाढ़ता लाने के लिए और दाम्पत्य जीवन को सुखी बनाने के लिए यह रत्न बहुत लाभकारी होता है। ओपल के प्रभाव से वृषभ राशि के जातक बुरी संगत से दूर रहते है। कला एवं फ़िल्मी जगत में प्रसिद्धि पाने के लिए भी ओपल रत्न धारण किया जाता है। इस राशि के व्यक्ति को माणिक्य नहीं धारण करना चाहिए। इन्हें मूंगा रत्न न पहनने की सलाह भी यहाँ दी जाती है।

Daily Horoscope

मिथुन राशि रत्न 

मिथुन राशि के जातक आकर्षक और कला प्रेमी होते है। इनका नेगेटिव पॉइंट होता है कि इन्हें जीवन में सफलता थोड़ी देर से मिलती है। पन्ना बुध ग्रह का रत्न है और बुध मिथुन राशि का स्वामी है। मिथुन राशि के लोगों को पन्ना रत्न धारण करने से बहुत ही लाभ होता है। इस रत्न के प्रभाव से जीवन में सफलता मिलती है, तथा जीवन में जो भी कष्ट होते है वह धीरे धीरे ख़त्म होने लगते है।

यह रत्न विद्वता, वाद-विवाद करने की क्षमता प्रदान करता है। पढाई में कमजोर बच्चों और छात्रों को पन्ना रत्न धारण करने से लाभ होता है। इसके प्रभाव से उनकी एकाग्रता में वृद्धि होती है। कहते है जिस घर में भी पन्ना रत्न होता है उस घर में धन-धान्य के कभी कमी नहीं होती। इस रत्न के प्रभाव से आँखों की रोशनी तेज होती है। गणित और कॉमर्स से सम्बंधित शिक्षा प्रदान करने वाले अध्यापकों के लिए पन्ना रत्न धारण करना लाभदायक होता है। मिथुन राशि के जातकों को नीलम रत्न भूलकर भी धारण नहीं करना चाहिए।

हिंदू पंचांग 2019 पढ़ें और जानें वर्ष भर के शुभ दिन, शुभ मुहूर्त, विवाह मुहूर्त, ग्रह प्रवेश मुहूर्त और भी बहुत कुछ।

अभिमंत्रित पन्ना रत्न आर्डर करें 

कर्क राशि रत्न 

कर्क राशि के जातक बुद्धिमान होते हैं परन्तु जिद्दी स्‍वभाव के भी होते हैं। अपने जिद्दी स्‍वभाव के कारण कभी-कभी इन्‍हें नुकसान भी उठाना पड़ जाता है। कर्क राशि के जातकों को मोती पहनने से लाभ होता है। सौरमंडल के सबसे चमकदार ग्रहों में से एक रत्न मोती है। यह रत्‍न मन के विचारों को नियंत्रित कर उसे शांति प्रदान करता है। मन को स्थिरता प्रदान करने में मोती रत्‍न अहम भूमिका निभाता है। मोती धारण करने से आत्‍मविश्‍वास में वृद्धि होती है।

मानसिक तनाव से जूझ रहे लोगों को मोती रत्न धारण करने से मानसिक शांति मिलती है तथा आत्मविश्वास बढ़ता है, भय दूर होता है। इस रत्न के प्रभाव से गुस्से पर नियंत्रण किया जाता है। माता के साथ संबंध अच्छे बनाए रखने के लिए यह रत्न धारण किया जाता है। ब्लड प्रेशर, हृदय, एवं आंखों से संबंधित बीमारी हो तो यह रत्न पहनना उचित होता है। महिलाओं को गर्भाशय से संबंधित परेशानियों से बचने के लिए मोती धारण करना चाहिए। जिन लोगों को अपनी राशि या कुंडली के बारे में जानकारी नहीं होती वह लोग भी मोती धारण कर सकते है। कर्क राशि के जातक कभी भी मूंगा रत्न धारण न करें।

अभिमंत्रित मोती आर्डर करें

सिंह राशि रत्न 

सिंह राशि के लोग काफी उदार स्वभाव के होते है, लेकिन इन्हें अपने जीवन में बहुत संघर्ष करना पड़ता है। छोटी-छोटी चीजे भी इन्हें काफ़ी मेहनत करने के बाद नसीब होती है। ऐसे में अगर सिंह राशि के जातक माणिक्य रत्न धारण करे तो इन्हें अपने कार्यों में सफलता मिलती है। जबकि हीरा पहनने से इनको नुकसान होता है। माणिक्य रत्न का स्वामी सूर्य है और सूर्य की राशि सिंह है, इसलिए सिंह राशि के लोगों को माणिक्य रत्न धारण करना चाहिए।

सूर्य की कृपा से जातक को हर कार्य में सफलता मिलती है इसलिए अगर सिंह राशि के लोग सफलता पाना चाहते है तो माणिक्य रत्न जरुर धारण करें। सूर्य ग्रह का रत्न माणिक्य बहुत ही चमकदार गहरा लाल या गुलाबी रंग का होता है। आँखों की समस्याओं से बचने के लिए यह रत्न धारण किया जाता है। इस रत्न के प्रभाव से प्रेम-भावना जागृत होती है, व्यक्ति में नेतृत्व करने के गुण आते है। सरकारी क्षेत्र में काम करने वाले लोगों को माणिक्य रत्न पहनने से लाभ होता है। कामकाज, व्यापार-व्यवसाय में लाभ पाने के लिए इस रत्न को धारण करना चाहिए।

अभिमंत्रित माणिक्य आर्डर करें

Weekly Horoscope

कन्‍या राशि रत्न 

जीवन में चाहे किसी भी तरह की दिक्कते आ रही हो उनसे मुक्ति पाना या जीवन में आ रही कठिनाइयों से निपटना कन्या राशि के जातक अच्छे से जानते है। इन जातकों में एक ही कमी होती है, यह जातक जरूरत से ज्यादा भावुक होते है और अपना ही नुकसान कर बैठते है। यह लोग बहुत जल्दी दूसरों की तरफ आकर्षित होते है। इनका चंचल स्वभाव ही इनकी सबसे बड़ी मुसीबत बन जाता है। अतः कन्या राशि के जातकों को पन्ना रत्न धारण कर लेना चाहिए।

इस रत्न के प्रभाव से जीवन में सफलता मिलती है, तथा जीवन में जो भी कष्ट होते है वह धीरे धीरे ख़त्म होने लगते है। यह रत्न विद्वता, वाद-विवाद करने की क्षमता प्रदान करता है। पढाई में कमजोर बच्चों और छात्रों को पन्ना रत्न धारण करने से लाभ होता है। इसके प्रभाव से उनकी एकाग्रता में वृद्धि होती है। कहते है जिस घर में भी पन्ना रत्न होता है उस घर में धन-धान्य के कभी कमी नहीं होती। इस रत्न के प्रभाव से आँखों की रोशनी तेज होती है। गणित और कॉमर्स से सम्बंधित शिक्षा प्रदान करने वाले अध्यापकों के लिए पन्ना रत्न धारण करना लाभदायक होता है।

अभिमंत्रित पन्ना रत्न आर्डर करें 

तुला राशि रत्न 

तुला राशि के जातकों में विभिन्न प्रकार की खूबियाँ होती है। इन्हें कला से प्रेम होता है, यह जातक पैसा कमाने के लिए सदैव उत्सुक रहते है, लेकिन यह हमेशा दूसरों पर अपना वर्चस्व साबित करना चाहते है। यह काफी स्वार्थी भी होते है। अपनी नकारात्मकता को नियंत्रित करने के लिए तुला राशि के जातक ओपल धारण कर सकते है। जबकि मूंगा धारण करने से इन्हें नुकसान हो सकता है। इसलिए तुला राशि के लोगों को शुक्र ग्रह का रत्न ओपल पहनना चाहिए।

ओपल शुक्र का रत्न है और शुक्र धन-धान्य और भोग विलास का कारक है। शुक्र तुला राशि का अधिपति ग्रह है। तुला राशि के लोगों को शुक्र के रत्न ओपल को धारण करने से बहुत ही लाभ होता है।

किडनी स्टोन जैसी बीमारी को दूर करने के लिए ओपल रत्न को धारण किया जाता है। प्रेम संबंधों में प्रगाढ़ता लाने के लिए और दाम्पत्य जीवन को सुखी बनाने के लिए यह रत्न बहुत लाभकारी होता है। ओपल के प्रभाव से तुला राशि के जातक बुरी संगत से दूर रहते है। कला एवं फ़िल्मी जगत में प्रसिद्धि पाने के लिए भी ओपल रत्न धारण किया जाता है।

अभिमंत्रित ओपल रत्न आर्डर करें

वृश्चिक राशि रत्न

धैर्य और शांति का दूसरा नाम होते है वृश्चिक राशि के जातक। इन जातकों को अपने..

Read Full Article
  • Show original
  • .
  • Share
  • .
  • Favorite
  • .
  • Email
  • .
  • Add Tags 

शनि रक्षा सूत्र – सात मुखी रुद्राक्ष और पारद मणि के साथ पिरोया गया यह ब्रेसलेट बहुत ही चमत्कारिक है। शुद्ध पारद और सात मुखी रुद्राक्ष से बना यह ब्रेसलेट धारण करने से उसकी दैवीय शक्ति व्यक्ति को लाभ प्रदान कर उसके आसपास सकारात्मक एनर्जी उत्पन्न करती है।

शनि रक्षा सूत्र

सात मुखी रुद्राक्ष माँ लक्ष्मी का ही रूप है, इसे धारण करने से नसों, हड्डियों से सम्बंधित रोगों से निजात मिलती है तथा आर्थिक विकास होता है। इसका सम्बन्ध शनि ग्रह से होता है। शनि ग्रह से सम्बंधित सभी दोषों को दूर करने के लिए सात मुखी रुद्राक्ष अवश्य धारण करना चाहिए।

पारद -शिव पुराण में पारद को शिव का स्वरुप कहा गया है। इसका पूजन करने से संसार के समस्त दोषों से मुक्ति मिल जाती है। आयुर्वेद में भी इसके कई उपयोग हैं। शिव भगवान अपने भक्तों पर बहुत जल्दी प्रसन्न होते है तथा उनका आशीर्वाद प्राप्त कर व्यक्ति अपने जीवन में उत्पन्न हो रही समस्याओं से बहुत जल्दी निजात पाता है।

Kundli Software

क्यों और किसे धारण करना चाहिए शनि रक्षा सूत्र

यह मकर और कुम्भ राशि के लोगों के लिए अत्यंत लाभकारी होता है परन्तु यह ब्रेसलेट अन्य राशि के लोग भी धारण कर सकते है, लाभ निश्चित होगा। इसे धारण करने से माता लक्ष्मी तथा शिव भगवान का आशीर्वाद हम पर सदा बना रहता है, और शनि देव की कृपा बनी रहती है, इसका किसी प्रकार का नकारात्मक प्रभाव नहीं होता, तो देर किस बात की माँ लक्ष्‍मी तथा शिव भगवान को शीघ्र ही प्रसन्न करने के लिए AstroVidhi से तुरंत यह ब्रेसलेट ऑर्डर करे, लाभ अवश्य होगा।

सुख-समृद्धि की प्राप्ति – यह ब्रेसलेट बहुत ही अद्भुत और चमत्कारिक है, इसको धारण करने के कुछ समय बाद ही घर में रुपए-पैसे का आगमन होने लगता है। घर में धन-धान्य की कमी महसूस नहीं होती, घर में ख़ुशी का वातावरण रहता है। अगर किसी कारणवश आपकी घर की सुख-शांति- समृद्धि चली गयी है या घर में हमेशा कलह रहता है तो देर न करते हुए तुरंत ही इस ब्रेसलेट को धारण करे इसके प्रभाव से आपको सुख-समृद्धि की प्राप्ति अवश्य होगी।

कामकाज में सफलता – इस चमत्कारिक ब्रेसलेट को धारण करने के पश्चात नौकरी और व्यवसाय में सफलता के मार्ग प्रशस्त होते है, धन लाभ होता है। व्यवसाय या नौकरी में आनेवाली रूकावटे अपने आप दूर होने लगती है। कामकाज में मान-सम्मान की प्राप्ति होती है तथा मनवांछित सफलता मिलती है।

Horoscope 2019

स्वास्थ्यवर्धक – जो भी जातक अपने अस्वस्थ स्वास्थ्य के कारण परेशान है या आए दिन जिसका स्वास्थ्य खराब रहता हो उसके लिए पारद लाभकारी है, इसे धारण करने से हृदय रोग, मानसिक तनाव, हाई ब्लड प्रेशर और दमा आदि रोगों से मुक्ति मिलती है।

दुर्घटनाओ से बचाव – इस शनि रक्षा सूत्र के प्रभाव से चोरी/ धोखाधड़ी जैसे आरोपों से मुक्ति मिलती है। अचानक उत्पन्न होनेवाली अप्रिय घटनाओं से जातक की रक्षा होती है इसलिए इस ब्रेसलेट को अवश्य धारण कर लेना चाहिए ताकि भविष्य में किसी तरह की दुर्घटना आपके साथ घटित ना हो। शनि के अशुभ प्रभावों से मुक्ति मिलती है।  

हिंदू पंचांग 2019 पढ़ें और जानें वर्ष भर के शुभ दिन, शुभ मुहूर्त, विवाह मुहूर्त, ग्रह प्रवेश मुहूर्त और भी बहुत कुछ।

बच्चों की रक्षा के लिए – इस ब्रेसलेट में अद्भुत जादुई गुण होने के कारण यह बच्चों को बुरी नज़र तथा नकारात्मक ऊर्जा से हमेशा बचाता है। इसके प्रभाव के कारण बच्चे किसी भी काम को अच्छे से ध्यान लगाकर कर सकते हैं। पढाई-लिखाई में मन लगता है। एकाग्रता बढ़ती है। बुरी संगति से बच्चों का बचाव होता है, इसलिए देर न करते हुए यह ब्रेसलेट बच्चों को अवश्य पहनाना चाहिए।

कैसे करें प्रयोग

शनि रक्षा सूत्र को धारण करने से पूर्व शिव भगवान, माता लक्ष्मी और शनि देव का स्मरण करे, उसके बाद इसे धारण कर सकते हैं।

हिंदू Panchang 2019 पढ़ें और जानें वर्ष भर के शुभ दिन, शुभ मुहूर्त, विवाह मुहूर्त, ग्रह प्रवेश मुहूर्त और भी बहुत कुछ।

Buy Rudraksha

कहाँ से ले यह शनि रक्षा सूत्र

AstroVidhi से आप यह शनि रक्षा सूत्र ले सकते है। इस चमत्कारिक ब्रेसलेट को हमारे अनुभवी पंडितजी सूरज शास्त्री द्वारा अभिमंत्रित करने के बाद ही आपके पास भेजा जाएगा, जिससे आपको शीघ्र अति शीघ्र इस ब्रेसलेट का पूर्ण लाभ मिल सके और यह ब्रेसलेट आपके जीवन को समृद्धि के साथ-साथ खुशियों से भी भर सके।

किसी भी जानकारी के लिए Call करें :  8882540540

ज्‍योतिष से संबधित अधिक जानकारी और दैनिक राशिफल पढने के लिए आप हमारे फेसबुक पेज को Like और Follow करें : AstroVidhi Facebook

The post क्यों और किसे धारण करना चाहिए शनि रक्षा सूत्र appeared first on AstroVidhi.

Read Full Article
  • Show original
  • .
  • Share
  • .
  • Favorite
  • .
  • Email
  • .
  • Add Tags 

सूर्य की आभा लिए हुए गहले लाल, पीले रंग के सनस्टोन रत्न को रूबी का उपरत्‍न भी कहते हैं।  जो लोग माणिक मँहगा होने के कारण धारण नहीं कर सकते, वे इसे धारण कर सकते हैं, यह कभी-कभी हरे, नीले और सफेद रंग का भी होता है परन्तु गहरा नारंगी रंग का सनस्‍टोन सबसे अच्‍छा माना जाता है।

सूर्य ग्रह के रत्नों मे माणिक का उपरत्न रविवार को कृत्तिका नक्षत्र में अनामिका उंगली में सोने में धारण करनी चाहिये। उपरत्न होने के बावजूद भी यह रत्न बहुत असरदार होता है।

किस राशि के जातक धारण करें सनस्टोन

ज्‍योतिष के अनुसार सनस्टोन रत्न सूर्य से संबंधित है और यह मीन, सिंह और तुला राशि पर अधिकार रखता है इसलिए मीन, सिंह और तुला राशि के जातकों के लिए यह रत्न लाभकारी होता है।

हिंदू पंचांग 2019 पढ़ें और जानें वर्ष भर के शुभ दिन, शुभ मुहूर्त, विवाह मुहूर्त, ग्रह प्रवेश मुहूर्त और भी बहुत कुछ।

कहाँ पाया जाता है सनस्टोन?

दक्षिण नार्वे, साइबेरिया और यूएस में सनस्टोन पाया जाता है लेकिन भारत सहित कई और जगहों में इनकी खानें हैं।

Kundli Software

सनस्टोन के लाभ

साहस को बढ़ाता है – यह रत्न सूर्य की तरह ही तेजस्वी, साहसी, नीडर बनाता है। इसे पहनने के बाद अपने आप में विश्वास बढ़ता है और व्यक्ति कोई भी कठिन से कठिन कार्य करने से घबराता नहीं है, इसे धारण करने से दुःख, किसी भी प्रकार की कोई तकलीफ दूर होती है। तो देर किस बात की शीघ्र ही यह रत्न धारण करे और इसका लाभ लें।

मानसिक शांति प्रदान करता है – प्रत्येक व्यक्ति मानसिक तनाव से गुजर रहा है, इस भागदौड़ भरी जिन्दगी में अगर सुकून के पल जीना चाहते है तो शीघ्र ही सनस्टोन धारण करे। इसको धारण करने के कुछ समय बाद ही आपको मन की शांति मिलेगी, रात को अच्छी चैन की नींद ले पाएंगे तथा आराम मिलेगा। यह मस्तिष्क को शांति प्रदान करता है। बड़े-बड़े निर्णय लेने की क्षमता का विकास होगा तो देर न करते हुए जल्दी ही सनस्टोन धारण करें।

हिंदू Panchang 2019 पढ़ें और जानें वर्ष भर के शुभ दिन, शुभ मुहूर्त, विवाह मुहूर्त, ग्रह प्रवेश मुहूर्त और भी बहुत कुछ।

सनस्टोन और फैशन की दुनिया – फैशन की जादुई दुनिया में सनस्टोन अपनी सुन्दरता के कारण बहुत ही प्रसिद्ध है, यह रत्न विभिन्न प्रकार के आभूषणों के लिए प्रयोग में लिया जाता है, महिलाओं को इससे बने आभूषण बहुत लुभाते है, इस रत्न से जडित आभूषण महिलाओं की सुन्दरता में चार चाँद लगा देते है। इसलिए फैशन और ज्वेलरी में इसका इस्तेमाल बड़े पैमाने पर किया जाता है।

Birth Gemstone

एलर्जी और दर्द में आराम – मौसम में बदलाव के कारण कई प्रकार की बीमारिया फैलती है, एलर्जी होती है ऐसे में अगर सनस्टोन धारण किया जाए तो कई प्रकार की बिमारियों से बचा जा सकता है, इसलिए अपनी रक्षा के लिए सनस्टोन अवश्य और शीघ्र ही धारण करे। यह रत्न धारण करने के बाद दर्द, सूजन आदि में भी काफी आराम मिलता है।

ऊर्जा प्रदान करता है – सूर्य एक ऊर्जावान ग्रह है इसलिए जो भी जातक सनस्टोन धारण करता है उसको सूर्य की ऊर्जा मिलती रहती है और जातक किसी भी काम को करने में ऊर्जावान रहता है।

कहाँ से प्राप्‍त करें

AstroVidhi अच्‍छे, प्राकृतिक और सिद्ध रत्‍न उन लोगों को पहुंचाने के उद्देश्‍य से ही काम कर रही है जिसे उनकी जरूरत है। हमारी पहली प्राथमिकता है कि जिसको रत्‍नों की जरूरत है उसको उसकी आवश्‍यकता और क्षमता के अनुसार बेहतर रत्‍न उपलब्‍ध कराया जाए। हम अच्‍छे, सर्टिफाइड और सस्‍ते रत्‍न लोगों तक पहुंचाते हैं जिससे सभी रत्‍नों के जादुई असर से अपना जीवन संवार सके। सेंथेटिक सनस्टोन भी बाजार में बहुत अधिक मात्रा में है लेकिन ज्‍योतिष रेमिडी के लिए इसे AstroVidhi से ही लेना उचित है।

Horoscope 2019

हमसे क्‍यों लें

इस रत्न को हमारे AstroVidhi के अनुभवी ज्योतिषी पंडित सूरज शास्त्री जी द्वारा अभिमंत्रित किया है जिससे यह आपको जल्‍द ही शुभ फल दे। इस रत्न के साथ सर्टिफिकेट भी दिया जाएगा जो इस रत्‍न के ओरिजनल होने का प्रमाण है।

किसी भी जानकारी के लिए Call करें :  8882540540

ज्‍योतिष से संबधित अधिक जानकारी और दैनिक राशिफल पढने के लिए आप हमारे फेसबुक पेज को Like और Follow करें : AstroVidhi Facebook

The post सनस्टोन के फायदों के बारे में जानकार हैरान हो जायेंगे आप appeared first on AstroVidhi.

Read Full Article
  • Show original
  • .
  • Share
  • .
  • Favorite
  • .
  • Email
  • .
  • Add Tags 

हिन्दू ज्योतिष शास्त्र में गुरु गोचर का अपना एक महत्व है। सौरमंडल में स्थित नवग्रहों में गुरु ग्रह को सबसे शुभ माना गया है। गुरु ग्रह को धनु व मीन राशि का स्वामित्व प्राप्त है। गुरु के प्रभाव से जातक का मन धर्म एवं आध्यात्मिक कार्यों में अधिक लगता है।गुरु कर्क राशि में उच्च भाव और मकर राशि में नीच के होते है। आइए अब हम जानते है गुरु गोचर 2019 के बारे में।

गुरु गोचर 2019

गुरु ग्रह 30 मार्च 2019, शनिवार को रात्रि 3 बजकर 11 मिनट पर धनु राशि में प्रवेश करेगा। 22 अप्रैल 2019, सोमवार को शाम 5 बजकर 55 मिनट पर यह पुन: वृश्चिक राशि में गोचर करेगा और 5 नवंबर 2019, मंगलवार को सुबह 6 बजकर 42 मिनट पर धनु राशि में वापिस आएगा। गुरु के इस राशि परिवर्तन का असर सभी 12 राशियों पर होगा। आइए जानते है गुरु के इस राशि परिवर्तन का विभिन्न 12 राशियों पर क्या प्रभाव पड़ेगा।

हिंदू पंचांग 2019 पढ़ें और जानें वर्ष भर के शुभ दिन, शुभ मुहूर्त, विवाह मुहूर्त, ग्रह प्रवेश मुहूर्त और भी बहुत कुछ।

Kundli Software

गुरु गोचर 2019मेष राशि पर प्रभाव

गुरु आपकी राशि से नवम भाव में गोचर कर रहे है। इस गोचर के प्रभाव के कारण आपकी कामकाज में तरक्की होगी। संतान सुख उत्तम बना रहेगा। आपको समाज और कार्यक्षेत्र में मान-सम्मान की प्राप्ति होगी। इस गोचर के दौरान धन-संपत्ति की प्राप्ति होगी, कामकाज में अच्छा धनलाभ होगा।

धार्मिक कार्य की ओर आपका मन आकर्षित होगा। तीर्थयात्रा करने के कई अवसर आपको मिलेंगे। इस गोचर के दरम्यान आपके घर नन्हे मेहमान का आगमन होने के संकेत मिल रहे है।

उपाय – शिव भगवान की आराधना करें तथा शिव भगवान का रुद्राभिषेक करें।

हिंदू Panchang 2019 पढ़ें और जानें वर्ष भर के शुभ दिन, शुभ मुहूर्त, विवाह मुहूर्त, ग्रह प्रवेश मुहूर्त और भी बहुत कुछ।

गुरु गोचर 2019 – वृषभ राशि पर प्रभाव

गुरु आपकी राशि से अष्टम भाव में गोचर कर रहे है। इस गोचर के दौरान शेयर मार्किट में निवेश करने से बचें, और अगर निवेश करना ही है तो सोच-विचार अवश्य कर लें। इस गोचर में आपको कोई अशुभ समाचार मिल सकता है। व्यापारी हो या नौकरीपेशा व्यक्ति हो यह गोचर आपके लिए रूकावटे उत्पन्न करनेवाला है, मनवांछित सफलता नहीं मिलेगी।

इस गोचर के दौरान आपका मन धार्मिक कार्य की और अधिक आकर्षित होगा तथा आप धार्मिक यात्राएं भी करेंगे। इस दौरान धन हानि की संभावना भी बन रही है इसलिए लेन-देन के मामले में थोड़ी सावधानी बरतें, बिना सोचे-समझे किसी भी व्यक्ति पर विश्वास न करें।

उपाय – पंचमुखी रुद्राक्ष धारण करे तथा गाय का घी दान करें।

Buy Rudraksha

गुरु गोचर 2019 – मिथुन राशि पर प्रभाव

गुरु आपकी राशि से सप्तम भाव में गोचर कर रहे है। यह गोचर पार्टनरशिप में काम करने के लिए बेहतर है, जो लोग पार्टनरशिप मे काम करना चाहते है उनके लिए अच्छा समय है।

इस गोचर में आपकी वाणी में मिठास देखने को मिलेगी। आप हर काम बुद्धिमानी से करेंगे। इस गोचर में आपको अचानक धन लाभ होगा। आपकी खाने-पिने में रूचि बनी रहेगी। इस गोचर में वैवाहिक जीवन का भरपूर आनन्द आप लेंगे।

उपाय – घर में हवन करवाए तथा कपूर का दीयां जलाएं।

गुरु गोचर 2019 – कर्क राशि पर प्रभाव

देवताओं के गुरु आपकी राशि से षष्ठ भाव में गोचर कर रहे है। गुरु के षष्ठ भाव में स्थित होने से आपके स्वास्थ्य पर बुरा असर पड़ सकता है। इस दौरान आप मानसिक तनाव से परेशान रह सकते हैं इसलिए बेहतर होगा कि विषम परिस्थितियों में धैर्य के साथ काम लें और अधिक तनाव लेने से बचें।  इस काल में आपके शत्रु आपको परेशान कर सकते है।

पारिवारिक कलह देखने को मिलेंगे। बैंक से लोन लेने के लिए यह गोचर अच्छा है। प्रतियोगी परिक्षाओं में सफलता मिलेगी। इस कालावधि में अगर आप नवीन नौकरी की तलाश में है तो निश्चित रूप से आपको नौकरी मिलेगी। यदि आपने मेहनत और लगन के साथ प्रयास किया तो नतीजे आपके पक्ष में आएंगे।

उपाय – केले के वृक्ष की पूजा गुरूवार के दिन करे तथा पीले पदार्थ गरीबों में बांटे।

गुरु गोचर 2019 – सिंह राशि पर प्रभाव

गुरु आपकी राशि से पंचम भाव में गोचर कर रहे है। इस अवधि में आपके नए-नए संपर्क बनेंगे और इनसे लाभ की प्राप्ति होगी। यह गोचर आपके लिए शुभ समाचार लेकर आया है। आप परोपकार तथा  धार्मिक कार्य में बढ़-चढ़कर हिस्सा लेंगे तथा धार्मिक किताबों को पढने में रूचि दिखाएंगे।

व्यापार तथा नौकरी में आपको अच्छी सफलता मिलेगी। पढाई-लिखाई में आपकी रूचि बनी रहेगी।  इस गोचर के दरम्यान आपके घर नन्हे बालक का आगमन होगा। आप प्रोपर्टी की खरीदारी करेंगे। यह गोचर धन-संपत्ती के लिए उत्तम है। वैवाहिक सुख तथा संतान सुख के लिए यह गोचर बेहतर है।

उपाय – ॐ ब्रं बृहस्पतये नम: का जाप करे।

गुरु गोचर 2019 – कन्या राशि पर प्रभाव

गुरु आपकी राशि से चतुर्थ भाव में गोचर कर रहे है। यह गोचर आपके लिए बहुत अच्छा नहीं कहा जाएगा। इस गोचर के दौरान आपके मन में धर्म और आध्यात्मिक विचारों की वृद्धि होगी। आप दिखावे से ज्यादा साधा जीवन जीने में विश्वास रखते है।

इस गोचर में आपका व्यवहार दूसरों के प्रति बहुत ही मधुर और सौम्य होगा। यह भी संभव है की आपके अपने नजदीकी लोग ही आपके साथ विश्वासघात करे। सयंम तथा धैर्य से परिस्थिति को संभालने का प्रयास करें।

उपाय – गाय को घर की बनी पहली रोटी खिलाये।

Buy Rudraksha

गुरु गोचर 2019 – तुला राशि पर प्रभाव

गुरु आपकी राशि से तृतीय भाव में गोचर कर रहे है। इस गोचर में आपकी छोटी-छोटी यात्राएं होंगी। इस समय निवासस्थान में परिवर्तन की संभावना बनी हुई है।  इस गोचर के दौरान आपके अंदर आलस्य की प्रधानता बनी रहेगी।

यह गोचर आपके लिए बहुत बढ़िया नहीं कहा जाएगा परन्तु धैर्य से काम लेंगे तो कुछ समय बाद ही कुछ परिस्थितियां फिर से आपके अनुकूल हो जाएंगी। क्रोध ना करे तथा अपने व्यवहार में सौम्यता रखें।  आपके धार्मिक ज्ञान में वृद्धि होगी।  ईश्वर के प्रति आस्था में इजाफा होगा।

उपाय – गाय को घर की पहली रोटी खिलाये। गुरूवार को चने की दाल मंदिर में देकर आयें।

गुरु गोचर 2019 – वृश्चिक राशि पर प्रभाव

गुरु आपकी राशि से द्वितीय भाव में गोचर कर रहे है। ज्योतिष में द्वितीय भाव को धन स्थान कहा गया है इसलिए यह भाव सभी के लिए महत्वपूर्ण होता है। इस गोचर के दौरान आपके घर किसी मांगलिक कार्य के संपन्न होने की सम्भावना अधिक है।

घर में मेहमानों का आना-जाना लगा रहेगा और मन में प्रसन्नता देखने को मिलेगी। गृहस्थ जीवन अच्छा बना रहेगा। जीवनसाथी के साथ आपके मधुर सम्बन्ध देखने को मिल सकते है। अगर आपकी किसी से शत्रुता है तो आपके शत्रु आपका कुछ नहीं बिगाड़ पायेंगे।

आप अपने शत्रुओं पर भारी पड़ेंगे। कामकाज में वृद्धि होगी तथा अच्छा धनलाभ होगा।  देखा जाएँ तो यह गोचर आपके लिए शुभ है।

उपाय गुरु के बीज मंत्रों का जाप करे – ॐ ग्रां ग्रीं ग्रौं स: गुरवे नम:।

गुरु का एकाक्षरी मंत्र- ॐ ब्रं बृहस्पतये नम: का जाप करे।

गुरु गोचर 2019 – धनु राशि पर प्रभाव

गुरु आपकी राशि में गोचर कर रहे है। इस गोचर के दौरान छात्र पढाई में अच्छा प्रदर्शन करेंगे। वैवाहिक जीवन का सुख और संतान सुख अच्छा मिलेगा। इस गोचर के दौरान आपके आत्मविश्वास में वृद्धि होगी तथा आप जिस काम को करने की ठान लेंगे उस काम में आपको बरकत होगी।

इस गोचर के दौरान धन-हानि होने की संभावनाएं अधिक है। आपके स्वभाव में गुस्सा देखने को मिलेगा, धन का नुकसान होने के कारण आपका मन अशांत रहेगा तथा आप बेवजह किसी के साथ बहस करने लग जायेंगे। किसी भी काम को जल्दबाजी में न करते हुए अगर आपने सयंम से किया तो आपको लाभ होगा और हालात आपके अनुसार देखने को मिलेंगे।

उपाय – पीला पुखराज धारण करे, पीले वस्त्र दान करें।

Horoscope 2019

गुरु गोचर 2019 – मकर राशि पर प्रभाव

गुरु आपकी राशि से द्वादश भाव में गोचर कर रहे है। यह गोचर आपके लिए मिला-जुला रहनेवाला है। इस गोचर के दौरान धार्मिक कार्य की तरफ आपकी रूचि बननेवाली है। विदेश यात्रा करने वाले लोगों की यात्रा सुखद होगी, सम्भावना है की इस गोचर में आप विदेश में प्रॉपर्टी खरीदे।

आप कामकाज के सिलसिले में लम्बी दूरी की यात्राएं करेंगे। वैवाहिक सुख मिलाजुला रहनेवाला है।  संतान सुख में कुछ दिक्कते बनी रहेंगी। धन का आगमन होगा परन्तु उसी के अनुसार खर्च भी होगा।  बेवजह किसी वादविवाद में ना पड़े अन्यथा आपकी दिक्कते बढ़ सकती है।

उपाय – केसर का तिलक अपने माथे पर लगाएं तथा पीला रुमाल अपने पास रखें।

गुरु गोचर 2019 – कुम्भ राशि पर प्रभाव

गुरु आपकी राशि से एकादश भाव में गोचर कर रहे है। इस गोचर के दौरान आपका स्वास्थ्य उत्तम रहेगा। अगर आपका स्वास्थ्य काफी समय से खराब है तो आपको इस गोचर में राहत मिलनेवाली है। भाग्य का साथ कदम-कदम पर मिलेगा।

नौकरी तथा व्यापार में अच्छा धनलाभ होगा, काम का विस्तार होगा।  धन का निवेश करने के लिए भी यह गोचर अच्छा है। आप अपना व्यापार विदेश में कर रहे हेई तो उसमें भी आपको अच्छा धनलाभ होगा। पारिवारिक सुख अच्छा बना रहेगा।

उपाय – पीपल के पेड़ को जल दें, पीपल के पेड़ को हाथ ना लगाएं।

गुरु गोचर 2019 – मीन राशि पर प्रभाव

देवताओं के गुरु आपकी राशि से दशम भाव में गोचर कर रहे है। इस गोचर के दौरान आप कामकाज के सिलसिले में घर से कही दूर जा सकते है। घर बदलने की सम्भावना इस गोचर के दौरान घटित हो सकती है।

यह गोचर स्वास्थ्य के लिए बहुत उत्तम नहीं है। स्वास्थ्य खराबी हो सकती है। अस्पताल के चक्कर काटने पड़ सकते है। अगर किसी को पैसा उधार देना है तो आप पहले से ही सतर्क रहे अन्यथा आपको बाद में पछताना पड़ सकता है। आप इस गोचर के दौरान अपने मित्रों तथा रिश्तेदारों के साथ अच्छा समय व्यतीत करेंगे।

उपाय – गुरु के बीज मन्त्र का जाप करे- ॐ ग्रां ग्रीं ग्रौं स: गुरवे नम:।

Book Puja Online

किसी भी जानकारी के लिए Call करें :  8882540540

ज्‍योतिष से संबधित अधिक जानकारी और दैनिक राशिफल पढने के लिए आप हमारे फेसबुक पेज को Like और Follow करें : AstroVidhi Facebook

The post गुरु गोचर 2019 – जानिए किन रशीयों के खुलेंगे भाग और किन राशियों का शुरू होगा दुर्भाग्य appeared first on AstroVidhi.

Read Full Article
  • Show original
  • .
  • Share
  • .
  • Favorite
  • .
  • Email
  • .
  • Add Tags 

1 मुखी से लेकर 14 मुखी रुद्राक्ष का क्या महत्व है, प्रत्येक रुद्राक्ष के अधिपति देवता कौन-कौन से है तथा इससे सम्बंधित ग्रहों के बारे में बताने वाली हूँ तथा इन रुद्राक्षों को धारण करने के बाद हमें कौन कौन से लाभ होते है, इसके बारे में बताने वाली हूँ।

शिव तथा रुद्राक्ष का आपस में गहरा सम्बन्ध है। रुद्राक्ष को स्वयं भगवान शिव का साक्षात् रूप माना जाता है। रुद्रा का अर्थ ही शिव है, शिव ऐसे देवता है जो अपने भक्तों से शीघ्र ही प्रसन्न होते है।

रुद्राक्ष के लाभ

धरती पर भगवान शिव तो स्वयं मौजूद नहीं हैं लेकिन वे रुद्राक्ष के रूप में अपने भक्तों की रक्षा करते हैं। मान्यता है कि रुद्राक्ष एक रक्षा कवच के रूप में कार्य करता है जो आपको हर मुसीबत से बचाए रखता है। रुद्राक्ष धारण करने से पुण्य की प्राप्ति होती है।

एक मुखी रुद्राक्ष

यह साक्षात् शिव का रूप है, पापों का नाश करने तथा भय, चिंता, से मुक्ति दिलाने के लिए ही इस रुद्राक्ष को धारण किया जाता है, इस रुद्राक्ष को धारण करने के पश्चात सूर्य देव तथा शिव भगवान् का आशीर्वाद प्राप्त होता है, सिंह राशि के जातकों के लिए यह रुद्राक्ष बहुत लाभकारी होता है।

दो मुखी रुद्राक्ष

 यह साक्षात् अर्ध्यनारीश्वर का रूप है, स्री रोग, किडनी तथा आँख से सम्बंधित रोगों से मुक्ति पाने के लिए यह रुद्राक्ष धारण किया जाता है। इस रुद्राक्ष को धारण करने के पश्चात चन्द्र देव प्रसन्न होते है, यह रुद्राक्ष कर्क राशि के जातकों के लिए लाभकारी होता है।

तीन मुखी रुद्राक्ष

 यह अग्नि देव का ही रूप है, इसे धारण करने से वास्तुदोष समाप्त होता है तथा साहस और आत्मविश्वास में वृद्धि होती है। इसका सम्बन्ध मंगल ग्रह से होता है तथा मेष और वृश्चिक राशि के लोगों के लिए लाभकारी होता है।

चार मुखी रुद्राक्ष

यह ब्रह्म देव का ही रूप है, इसे धारण करने से गले से सम्बंधित रोग, कुष्ठ रोग,, दमा तथा लकवा आदि रोगों से मुक्ति मिलती है। इसका सम्बन्ध बुध गह से होता है तथा कन्या एवं मिथुन राशि के लोगों के लिए लाभकारी होता है।

Buy Rudraksha

पांच मुखी रुद्राक्ष

 यह रूद्र अर्थात शिव का ही रूप है, इसे धारण करने से धन-संपत्ति तथा मान-सम्मान में वृद्धि होती है। पीलिया, मधुमेह तथा किडनी से सम्बंधित रोगों से मुक्ति मिलती है। इस रुद्राक्ष का सम्बन्ध बृहस्पती ग्रह से होता है, मीन तथा धनु राशि के लोगों के लिए पांच मुखी रुद्राक्ष बहुत ही लाभकारी होता है।

छह मुखी रुद्राक्ष

इनका सम्बन्ध कार्तिकेय तथा गणेश भगवान से होता है, इसे धारण करने से मूत्र रोग, किडनी तथा नपुंसकता जैसी समस्याओं से मुक्ति मिलती है। इस रुद्राक्ष का सम्बन्ध शुक्र ग्रह से होता है, तुला तथा वृष राशि के लोगों के लिए छह मुखी रुद्राक्ष बहुत ही लाभकारी होता है।

सात मुखी रुद्राक्ष

 यह माँ लक्ष्मी का ही रूप है, इसे धारण करने से नसों, हड्डियों से सम्बंधित रोगों से निजात मिलती है तथा आर्थिक विकास होता है। इसका सम्बन्ध शनि ग्रह से होता है। यह मकर और कुम्भ राशि के लोगों के लिए लाभकारी होता है।

आठ मुखी रुद्राक्ष

 यह भगवान गणेश का ही स्वरुप है। करियर में आ रही बाधाओं तथा मुसीबतों को दूर करने के लिए इस रुद्राक्ष को धारण किया जाता है। इसका सम्बन्ध राहु ग्रह से होता है, इस आठ मुखी रुद्राक्ष को धारण करने के बाद अकाल मृत्यु का डर समाप्त हो जाता है तथा त्वचा संबंधी रोग एवं गुप्त रोगों से राहत मिलती है।

नौ मुखी रुद्राक्ष

भैरव तथा दुर्गा इसके देवता है, इस रुद्राक्ष के प्रभाव से फेफड़े, कान और आँखों से सम्बंधित रोगों से मुक्ति मिलती है, संतान प्राप्ति के लिए भी इस रुद्राक्ष को धारण किया जाता है। इसका सम्बन्ध केतु ग्रह से होता है। जिस व्यक्ति की कुंडली में केतु शुभ होने के बाद भी अपना शुभ फल नहीं दे पाते ऐसे लोगों को यह रुद्राक्ष अवश्य धारण करना चाहिए।

Janam Kundali

दस मुखी रुद्राक्ष

 भगवान विष्णु इसके देवता है, इस रुद्राक्ष के प्रभाव से हृदय रोग तथा फेफड़ों से सम्बंधित रोगों में राहत मिलती है, इसका सम्बन्ध सभी ग्रहों से होता है, यह नज़र दोष तथा नकारात्मक शक्तियों से हमारी रक्षा करता है।

ग्यारह मुखी रुद्राक्ष

 हनुमानजी इसके देवता है, इस रुद्राक्ष के प्रभाव से आत्मविश्वास में वृद्धि होती है, यात्रा के दौरान नकारात्मक ऊर्जा से सुरक्षा मिलती है। इसका सम्बन्ध मंगल ग्रह से होता है तथा मेष और वृश्चिक राशि के लोगों के लिये यह लाभकारी होता है।

बारह मुखी रुद्राक्ष

भगवान सूर्य इसके देवता है, इस रुद्राक्ष के प्रभाव से नाम, शोहरत, सम्मान की प्राप्ति होती है, इसके प्रभाव से हृदय से सम्बंधित रोगों से मुक्ति मिलती है। इसका सम्बन्ध सूर्य ग्रह से होता है तथा सिंह राशि के लोगों के लिए यह लाभकारी होता है।

तेरह मुखी रुद्राक्ष

 इन्द्रदेव इसके देवता है, इसका सम्बन्ध शुक्र ग्रह से होता है। इस रुद्राक्ष के प्रभाव से मूत्र रोग, गर्भ संबंधी रोगों से निजात मिलती है, किडनी से परेशान लोगों के लिए भी यह रुद्राक्ष धारण करना लाभकारी होता है। तुला और वृषभ राशि के लोगों के लिए यह लाभकारी होता है।

चौदह मुखी रुद्राक्ष

यह साक्षात् शिव का रूप है, इस रुद्राक्ष के प्रभाव से निर्णय लेने की क्षमता का विकास होता है, तथा निराशा, बेचैनी, भूत-प्रेत, डर का समूल नाश होता है। इस रुद्राक्ष को धारण करने के पश्चात शनि देव तथा शिव भगवान् का आशीर्वाद प्राप्त होता है, मकर और कुम्भ  राशि के जातकों के लिए यह रुद्राक्ष बहुत लाभकारी होता है।

Daily Horoscope

असली और अभिमंत्रित रुद्राक्ष को प्राप्त करने के लिए आप नीचे दिए गए नंबर पर कॉल कर सकते है और अगर कुंडली से सम्बंधित किसी भी प्रकार की जानकारी प्राप्त करना चाहते है तो हमारे संस्थान से संपर्क कीजिये, हम आपकी सेवा में हमेशा उपस्थित रहते है।

किसी भी जानकारी के लिए Call करें :  8882540540

ज्‍योतिष से संबधित अधिक जानकारी और दैनिक राशिफल पढने के लिए आप हमारे फेसबुक पेज को Like और Follow करें : AstroVidhi Facebook

The post 1 मुखी से लेकर 14 मुखी रुद्राक्ष का महत्व – क्यों शिव को प्रिय है रुद्राक्ष? appeared first on AstroVidhi.

Read Full Article
  • Show original
  • .
  • Share
  • .
  • Favorite
  • .
  • Email
  • .
  • Add Tags 

इस बार मलमास की अवधि 16 दिसम्बर 2018 से लेकर 14 जनवरी 2019 तक है। मलमास आखिर होता क्या है, इसके पीछे क्या वैज्ञानिक और आध्यात्मिक कारण है, इन दिनों में शुभ कार्य क्यों नहीं किये जाते इन सबके बारे में हम विस्तार से जानेंगे परन्तु उससे पहले आइए अब हम जानते है की मलमास आखिर होता क्या है।

क्या होता है मलमास?

प्राचीन काल से ही शास्त्रों में मलमास को दूषित महीने के रूप में जाना जाता है।  यह एक अशुभ महीना है इस महीने कोई भी शुभ कार्य नहीं किये जाते जैसे- सगाई, शादी या इससे जुडा हुआ कोई भी काम, मकान का मुहूर्त या मकान की नीव रखना, मकान या कोई जमीन -जायदाद खरीदना, गृह-प्रवेश या इससे जुडा हुआ कोई भी काम, नवीन व्यापार की शुरुआत, बच्चे का नामकरण, बच्चे का मुंडन आदि शुभ कार्य नहीं किये जाते।

Janam Kundali

सूर्य जब भ्रमण करते है तब एक महीने तक एक राशि में रहते है। सूर्य 12 महीनों में 12 राशियों में भ्रमण करते है। बृहस्पती की दो रशिया है धनु और मीन, जब सूर्य भ्रमण करते हुए धनु और मीन राशि में आते है तो उस मास को मलमास कहते है।

विवाह तथा अन्य शुभ कार्य के लिए क्यों अशुभ माना जाता है?

जब सूर्य अत्याधिक तेज और ऊर्जा वाला होता है और बृहस्पति की राशि मीन की ओर गोचर करता है तो बृहस्पति का तेज कम पड़ जाता है। इतना ही नहीं इसका प्रभाव स्वयं सूर्य पर भी पड़ता है। इन दोनों ही ग्रहों में कोई बल या शक्ति नहीं बचती तो ऐसे में यह समय विवाह तथा अन्य शुभ कार्य करने के लिए शुभ और सही नहीं माना जाता।

मलमास में क्या करना चाहिए?
  • इस मास में भगवान् विष्णु की पूजा तुलसी के पत्तों के साथ करनी चाहिए, तथा उन्हें मीठी खीर या मीठे पदार्थ का भोग अवश्य लगाना चाहिए। इन दिनों में धार्मिक घाट पर स्नान करना चाहिए तथा अपनी योग्यता अनुसार दान करना चाहिए।
  • इस मास में जो भी एकादशी आती है उस दिन व्रत करने चाहिए। सुबह ब्रह्म मुहूर्त अर्थात सुबह  जल्दी उठकर स्नान करके भगवान् विष्णु का दूध से अभिषेक करना चाहिए, दूध में थोडासा केसर अवश्य मिलाये उसके बाद भगवान् विष्णु जी को तुलसी के पत्तों की माला डाले और ॐ नमो भगवते वासुदेवाय नम: का 108 बार जाप करे।
  • इस माह में आप जितना दान-पुण्य करेंगे उसी मात्रा में आपके जीवन में सुख-समृद्धि आयेगी।
  • दोस्त आप चाहते है की आपके जीवन में जो भी आपकी इच्छाए है उनकी पूर्ति हो तो इस माह में भगवान् विष्णु जी का ध्यान अवश्य करे तथा जो काम इस महीने वर्जित है वो गलती से भी नहीं करने चाहिये। उसके बाद आपको स्वयं को ही अपने जीवन में हो रहे बदलाव का आभास होगा।

Book Puja Online

दोस्तों आपके जीवन में अगर किसी प्रकार की दिक्कते आ रही है तो आप बिना संकोच हमारे संस्थान से जुड़िये या हमारे कमेंट्स बॉक्स में अपने कमेंट्स लिखिए हम आपका मार्गदर्शन अवश्य करेंगे।

किसी भी जानकारी के लिए Call करें :  8882540540

ज्‍योतिष से संबधित अधिक जानकारी और दैनिक राशिफल पढने के लिए आप हमारे फेसबुक पेज को Like और Follow करें : AstroVidhi Facebook

Malmas Upaay: मलमास तिथि और उपाय - मलमास में भूलकर भी न करें ये काम - YouTube

The post कब से है मलमास? जानिए इसके पीछे का वैज्ञानिक और आध्यात्मिक कारण appeared first on AstroVidhi.

Read Full Article
  • Show original
  • .
  • Share
  • .
  • Favorite
  • .
  • Email
  • .
  • Add Tags 

मकर संक्रांति का शुभ मुहूर्त तथा राशि अनुसार कौन कौन सी वस्तुओं का दान करने से हमें पुण्य की प्राप्ति होगी और इस दिन अगर हम अपने घर में सूर्य यंत्र की स्थापना करते है तो हमें कौन कौन से लाभ होते है, आइए अब हम विस्तार से जानते है।

मकर संक्रांति 2019

हम सभी जानते है की हिंदू धर्म में मकर संक्रांति का अपना एक महत्व है। यह पर्व भारत के विभिन्न राज्यों में स्थानीय मान्यताओं के अनुसार मनाया जाता है।

सामान्यत: प्रति वर्ष मकर संक्रांति 14 जनवरी को मनाई जाती है परन्तु वर्ष 2019  में यह पर्व 15 जनवरी को मनाया जायेगा।  इस दिन सूर्य उत्तरायण होता है, जबकि उत्तरी गोलार्ध सूर्य की ओर मुड़ जाता है। ज्योतिष मान्यताओं के अनुसार इसी दिन सूर्य मकर राशि में प्रवेश करता है। 

मकर संक्रांति से ही ऋतु में परिवर्तन होने लगता है। शरद ऋतु क्षीण होने लगती है और बसंत का आगमन शुरू हो जाता है। इसके फलस्वरूप दिन लंबे होने लगते हैं और रातें छोटी हो जाती है।

Buy Gemstones

मकर संक्रांति के दिन दान-पुण्य का विशेष महत्व है, इस दिन गुड़, चावल और तिल का दान करना सर्वश्रेष्ठ माना जाता है। 

इस दिन घर में सूर्य यंत्र स्थापित करने से साक्षात भगवान सूर्य का आशीर्वाद प्राप्त होता है| सूर्य देव की कृपा से सफलता के मार्ग प्रशस्‍त होते हैं। इस यंत्र को पूजन स्थल पर रखने से सूर्य ग्रह से संबंधित सभी तरह के दोष दूर होते है|

मकर संक्रांति 2019 शुभ मुहूर्त

पुण्य काल मुहूर्त : – सुबह 07:15:14 से दोपहर 12:30:00 तक

कुल अवधि- 5 घंटे 14 मिनट

महा पुण्य काल मुहूर्त : 07:15:14 से 09:15:14 तक

कुल अवधि- 2 घंटे

मकर संक्रांति पर राशि अनुसार क्या क्या दान करना चाहिए

शुरुआत करते है मेष राशि से-

  • मेष राशि के जातकों के लिए गुड़, तिल और मूंगफली का दान करना सबसे शुभ माना जाता है। 
  • वृषभ राशि के जातकों को सफ़ेद कपडे और तिल का दान करना चाहिये। 
  • मिथुन राशि के जातकों के लिए कंबल, चावल की खिचडी या मूंगदाल और चावल दान देना शुभ होता है।   
  • कर्क राशि के लोगों के लिए सफ़ेद कपडे, चांदी तथा चावल का दान सर्वश्रेष्ठ होता है। 
  • सिंह- राशि के लोगों को तांबा और सोना दान करने से शुभ फलों की प्राप्ति होती है।
  • कन्या- राशि के लोगों को चावल, हरे मूंग या हरे कपड़े का दान देना चाहिए।
  • तुला- राशि के जातकों को हीरे, चीनी या कंबल का देना चाहिए और
  • वृश्चिक -राशि के लोगों को मूंगा, लाल कपड़ा और तिल दान करने चाहिए।
  • धनु- राशि के लोग पीतल, पंचधातु व तिल का दान करें।
  • मकर- राशि के लोग चावल की खिचड़ी, बेसन के लड्डू या अष्टधातु से बनी वस्तुओं का दान करें,
  • कुंभ राशि के जातकों के लिए काला कपड़ा, काली उड़द, खिचड़ी और तिल का दान करना चाहिए, वहीं
  • मीन राशि के लोगों को रेशमी कपड़ा, चने की दाल, चावल और तिल दान करना उत्तम होता है।

Janam Kundali

आइये अब हम जानते है की इस दिन सूर्य यंत्र की स्थापना अपने घर में करने से या सूर्य यंत्र भेंट स्वरूप देने से कौन कौन से लाभ होते है-

  • इस यंत्र की विधिवत पूजा करने से सूर्य भगवान की कृपा हम पर बनी रहती है। 
  • जो जातक संतान प्राप्ति की कामना करते है, उन्हें बहुत ही जल्दी संतान सुख की प्राप्ति होती है। 
  • कामकाज में आ रही दिक्कते दूर होती है तथा घर में धन-धान्य की बरकत होती है। 
  • सूर्य की तरह जीवन में तेजस्विता आती है, दुःख और कष्ट जीवन से गायब हो जाते है। 
  • स्वास्थ्य उत्तम रहता है और मानसिक शांति मिलती है। 

किसी भी जानकारी के लिए Call करें :  8882540540

ज्‍योतिष से संबधित अधिक जानकारी और दैनिक राशिफल पढने के लिए आप हमारे फेसबुक पेज को Like और Follow करें : AstroVidhi Facebook

Makar Sankranti 2019 : मकर संक्रांति तिथि, शुभ मुहूर्त और राशिनुसार क्या दान करें - YouTube

The post मकर संक्रांति 2019 शुभ मुहूर्त – जानिए राशि अनुसार क्या क्या दान करना चाहिए? appeared first on AstroVidhi.

Read Full Article
  • Show original
  • .
  • Share
  • .
  • Favorite
  • .
  • Email
  • .
  • Add Tags 

Janwari 2019 Rashifal – दोस्तों आपको नववर्ष 2019 की बहुत बहुत शुभकामनाएं- यह वर्ष आपके लिए ढेर सारी खुशिया लेकर आये यही हम अपनी संस्थान की ओर से कामना करते है।

मेष
  • वर्ष 2019 का यह प्रथम माह मेष राशि के जातकों के लिए मिला-जुला रहने वाला है। आर्थिक दृष्टिकोन से देखा जाएं तो जनवरी महिना आपके लिए बेहतर साबित होने वाला है।
  • कामकाज में धनलाभ होगा। नौकरी की तलाश कर रहें लोगों को थोड़ा संघर्ष करना पड़ सकता है। व्यापारियों के लिए धन लाभ के अच्छे स्त्रोत उत्पन्न होंगे।
  • वैवाहिक जीवन उतार-चढ़ाव भरा रहने वाला है। छोटी-छोटी बातों को लेकर वाद-विवाद होंगे। घर के बड़े-बुजुर्गों के स्वास्थ्य का ध्यान अवश्य रखे, स्वास्थ्य खराबी के योग बने हुए है।
  • लेखन कार्य से जुड़े हुए लोगों के लिए यह महीना सुनहरे अवसर लेकर आ रहा है। लंबी दूरी की यात्राएं फलदायी साबित होंगी परंतु यात्रा करते समय सावधानी बरतें।
  • गाडी चलाते समय सतर्क रहे। शेयर मार्केट या रूपए-पैसे से संबंधित कार्य अगर लापरवाही से करते है तो यह
  • आपकी परेशानी का कारण बन सकते है इसलिए अलर्ट रहें। आप अपनी मधुर वाणी से दूसरों का दिल जीतने में कामयाब होंगे। छात्रों की शिक्षा के प्रति रूचि बनेगी। अपनी संगति का ध्यान रखें, गलत कार्य की तरफ मन आकर्षित हो सकता है।

Buy Red Coral

वृषभ
  • इस महीने आपको अपने स्वास्थ्य का विशेषतौर पर ध्यान रखना होगा। यात्राएं होंगी। धन का निवेश करने की सोच रहे है तो सतर्कता पूर्वक करें।
  • प्रॉपर्टी आदि लेने के लिए यह महीना उत्तम है। कामकाज के क्षेत्र में किसी से कहासुनी हो सकती है। संतान के भविष्य को लेकर चिंताएं बढ़ सकती है।
  • घर-परिवार में शुभ कार्य होने के योग बने हुए है। बेवजह किसी से ना उलझे अन्यथा आपके लिए ही समस्याएं बढ़ सकती है। इस महीने धार्मिक कार्य पर धन खर्च होगा।
  • नौकरी की तलाश कर रहे जातकों के लिए यह माह उत्तम है। घर में किसी सदस्य के साथ वैचारिक मतभेद होंगे। अपने क्रोध पर नियंत्रण रखें। छात्र अपना फोकस पढ़ाई-लिखाई में रखेंगे तो बेहतर होगा अन्यथा अंत में पछताना पड़ सकता है।
  • शिक्षा के क्षेत्र में सफलता पाने के लिए आपको इस माह कठिन परिश्रम करने की आवश्यकता है। वैवाहिक जीवन में छोटी-छोटी बातों को लेकर कलह बना रहेगा। अपनी वाणी और क्रोध पर नियंत्रण रखें।

Lucky Tortoise

मिथुन
  • इस माह आप अपने बलबूते पर कामकाज को आगे बढ़ाने में सफल होंगे। प्रतिस्पर्धी आपको पछाड़ने की कोशिश करेंगे परंतु कामयाब नहीं होंगे। शत्रुओं से सावधान रहे।
  • माता-पिता की सेहत का ध्यान रखे अन्यथा आपको अस्पताल के चक्कर काटने पड़ सकते है। कोई विपरीत घटना इस माह घटित होगी, इसलिए सावधानी बरते। किसी प्रकार के लड़ाई-झगड़ों में ना पड़े अन्यथा आपके लिए कई तरह की समस्याएं उत्पन्न होंगी।
  • प्रेम संबंधो में मधुरता बनी रहेगी। इस माह धार्मिक कार्य में बढ़-चढ़ कर हिस्सा लेंगे। बैंकिंग तथा आर्थिक क्षेत्र से जुड़े लोगों के लिए यह माह अच्छा व्यतीत होने वाला है। सटट्ा-जुआं आदि में आकर्षण बढ़ेगा। मित्रों के साथ अनबन हो सकती है।
  • माह के अंत तक रूपए-पैसे की तंगी परेशान कर सकती है। अगर आप अविवाहित है तो माह के अंत तक खुश खबरी मिल सकती है। घुटनों में दर्द, वात रोग तथा पेट दर्द इस माह परेशान कर सकता है।
  • अपने खान-पान का ध्यान रखें। विदेश यात्रा के संकेत मिल रहें है, खर्चों की अधिकता रहेगी।

Buy Emerald

कर्क
  • यह माह आपके लिए शुभ समाचार लेकर आ रहा है। सरकारी नौकरी की तैयारी कर रहें जातकों के लिए यह जनवरी का महीना उत्तम साबित होने वाला है। खर्च की अधिकता रहेगी।
  • नवीन प्रॉपर्टी लेने की सोच सकते है। कामकाज में बदलाव की सोच रहे है तो उसके लिए यह उत्तम समय नहीं है। भाई-बहनों के साथ विवाद होंगे। अपने क्रोध पर काबू रखना ही आपके लिए बेहतर है अन्यथा आप स्वयं का ही नुकसान करेंगे।
  • पिता के साथ किसी बात को लेकर बहस हो सकती है। जीवनसाथी के लिए समय निकाले अन्यथा वैवाहिक जीवन में तनाव देखने को मिलेगा। धन सोच समझकर खर्च करें अन्यथा इस माह के अंत तक दिक्कते होंगी।
  • मांगलिक कार्य में शिरकत करने का मौका मिलेगा। पुराने मित्र से बहुत दिनों के बाद मिलने से मन प्रसन्न रहेगा। खान-पान का ध्यान रखें, फास्ट फूड़ से दूर रहे। वाहन चलाते समय सावधानी बरतें।

Laxmi Narayan Ring

सिंह
  • इस माह आप अपना अधिकतर समय धार्मिक क्रियाकलापों में व्यतीत करेंगे। संतान सुख मिलेगा। घर के बड़े-बुजुर्गो का अनादर ना करें। व्यापारियों के लिए भागदौड़ बनी रहेगी, उनके काम का प्रेशर बढ़ने वाला है।
  • छात्रों की रूचि पढ़ाई से ज्यादा मनोरंजनात्मक कार्यों में होगी। मित्रों या परिवार के लोगों के साथ यात्राएं होंगी। प्रेम संबंधों में अनबन हो सकती है। शारीरिक थकावट के कारण स्वास्थ्य ठीक नहीं रहेगा।
  • नौकरी करने वाले जातकों की अपने सहकर्मियों से तीखी बहस हो सकती है। आपके विदेश यात्रा के संकेत नज़र आ रहे है। इस माह मान-सम्मान में वृद्धि होगी।
  • अचानक शुभ समाचार मिलेगा। घर-प्रॉपर्टी लेने के लिए जनवरी माह उत्तम है। माता-पिता का साथ एवं स्नेह मिलेगा। वाद-विवादों से स्वयं को दूर रखे अन्यथा कोर्ट-कचहरी का सामना करना पड़ सकता है।
  • पैतृक धन-संपत्ति मिल सकती है। हृदय रोगियों को अपने स्वास्थ्य का ध्यान रखने की आवश्यकता है।

Buy Ruby Online

कन्या
  • इस माह आपको कई सुनहरे अवसर मिल सकते है। नौकरी में प्रमोशन के संकेत मिल रहे है। प्रेम संबधों के लिए यह महीना उत्तम है। अविवाहित है तो शादी के लिए रिश्ते आएंगे।
  • छात्रों का मन पढ़ाई की ओर आकर्षित होगा। छात्रों को परिश्रम की आवश्यकता है। खेल-प्रतियोगिता में अपना बेस्ट देंगे। मांगलिक कार्य में सहभागी होंगे। अचानक कोई दुःखद समाचार मिल सकता है।
  • घर में किसी को स्वास्थ्य से संबंधित दिक्कते हो सकती है। इस माह धन खर्च अधिक होंगे। शरीर में आलस्य को छोड़ अपने कार्य पर फोकस रखें। घर में नन्हा मेहमान आने के योग बने हुए है। परिवार में किसी से विवाद होगा, जिसके कारण क्रोध बढ़ेगा।
  • मित्रों के साथ अच्छा समय व्यतीत करेंगे। परिवार का पूरा सहयोग मिलेगा। कामकाज के संदर्भ में घर से दूर जाना पड़ सकता है। धन-संपत्ति का निवेश विचार-विमर्श के बाद ही करे।
  • कोर्ट-कचेहरी के मामलों में दिक्कते आ सकती है। चोरी आदि का सामना करना पड़ सकता है, सावधानी बरतें। अप्रिय घटना घटित होने के संकेत मिल रहे है, सतर्क रहे।

Bhairav Laxmi Locket

तुला
  • यह महीना आपके लिए चुस्ती-फूर्ति भरा रहेगा। मनवांछित सफलता मिलेगी। माता-पिता का पूर्ण सहयोग मिलेगा। व्यापार में वृद्धि होगी।
  • अचानक किसी से विवाद परेशानी उत्पन्न करेगा, इसलिए वाद-विवादों से दूर रहें। इस माह अचानक यात्राओं के योग बने हुए है। धार्मिक कार्य में रूचि बढ़ेगी।
  • व्यापारी वर्ग के लिए भागदौड़ बनी रहेगी। नौकरी में बदलाव चाहते है तो समय सही है। जमीन-जायदाद में धन का निवेश कर सकते है। अपनी संगति का विशेष ध्यान रखे अन्यथा गलत कार्य की तरफ आप आकर्षित होंगे।
  • मित्रों से अधिक अपने काम पर फोकस करना आपके हित में होगा। छात्रों का मन पढ़ाई से भटक सकता है। आंखों से संबंधित दिक्कते होंगी। वैवाहिक जीवन का सुख मिलने वाला है।
  • संतान प्राप्ति के योग है। वृद्ध जातक अपनी सेहत का ध्यान रखें। इस माह खर्चों की अधिकता रहेगी।

Rudra Parad Mala

वृश्चिक
  • इस माह आपको कुछ चुनौतियों का सामना करना पड़ेगा। खर्चों की अधिकता रहेगी। धन का अभाव देखने को मिल सकता है। कर्ज की स्थिति बन सकती है, इसलिए धन सोच समझकर खर्च करे।
  • इस महीने उच्च शिक्षा की प्राप्ति के लिए विदेश यात्रा के योग बन रहे है। माता-पिता का भरपूर सहयोग मिलने वाला है। छात्रों में एकाग्रता की कमी देखने को मिलेगी।
  • पढ़ाई से मन भटक सकता है। कार्यक्षेत्र में चुनौतियों का सामना करना पड़ सकता है। अचानक कोई अशुभ समाचार मिलने वाला है। वाहन चलाते समय सावधानी बरतें।
  • संतान की चिंताएं परेशान करेंगी। इस माह मानसिक तनाव बढ़ने वाला है। मित्रों का सहयोग मिलेगा। बहुत सोच-समझकर धन का निवेश करें। कोर्ट-कचेहरी के मामलों में सफलता मिलेगी। इस माह आपको मिश्रित फल मिलने वाले है।

Book Puja Online

धनु
  • इस महीने कामकाज में वृद्धि होगी। आप शत्रुओं को परास्त करने में कामयाब होंगे। आपको वैवाहिक जीवन में मानसिक तनाव का सामना करना पड़ सकता है।
  • संतान की तरफ से चिंताएं बढ़ सकती है। सरकारी कर्मचारियों के लिए अच्छा महीना है। व्यापारी अपने काम को लेकर चिंतित रहेंगे। इस महीने आर्थिक समस्याएं परेशान कर सकती है।
  • परिवार के साथ यात्रा करने के योग बन रहे है। किसी प्रकार की दुर्घटना या चोरी हो सकती है, सतर्क रहें। छात्रों के लिए परिश्रम की आवश्यकता है। उच्च शिक्षा ग्रहण करने वाले विदयार्थियों के लिए यह महीना अच्छा है, परिश्रम का फल जरूर मिलेगा।
  • विदेश यात्रा करने के अवसर मिल सकते है। शारीरिक समस्याएं इस माह परेशान कर सकती है। अस्पतालों के चक्कर काटने पड़ सकते है।
मकर
  • मकर राशि के जातकों के लिए यह महीना मिलाजुला रहने वाला है। कार्य क्षेत्र में जो भी रूकावटे आ रही है वो समाप्ति की ओर है। मानसिक शांति की अनुभूति होगी। घर में शुभ कार्य संपन्न हो सकता है।
  • अपने परिवार के लोगों के साथ यात्रा करना फायदेमंद लेकिन महंगा साबित होगा। घर में मेहमानों का आना जाना लगा रहेगा। खान-पान का ध्यान रखे अन्यथा स्वास्थ्य खराबी के संकेत मिल रहे है। किसी नई वस्तु का क्रय होगा।
  • गाडी या प्रॉपर्टी लेने के लिए अच्छा महीना है। शत्रुओं से सावधान रहे, शत्रु परेशान करने का कोई मौका नहीं छोड़ेंगे। कोर्ट-कचेहरी से संबंधित मामलों में दिक्कते हो सकती है।
  • कोई भी काम आवेश में आकर ना करे अन्यथा आपके लिए परेशानी बढ़ सकती है। धार्मिक कार्य में रूचि बढ़ेगी। अपने माता-पिता का आदर करें, आने वाले समय में उनके आर्शीवाद से आपकी तरक्की होगी। वैवाहिक जीवन सरलता पूर्वक व्यतीत होगा। संतान सुख की प्राप्ति होगी।

Buy Blue Sapphire

कुंभ
  • यह महीना स्वास्थ्य के लिहाज से थोड़ा परेशान करने वाला है, सतर्क रहने में ही भलाई है। धनलाभ होने से मन प्रसन्न रहेगा। कामकाज का तनाव अधिक रहने वाला है। छात्रों को मनवांछित सफलता मिलने वाली है।
  • धन निवेश करते समय किसी भी अनजान व्यक्ति पर विश्वास ना करे, समस्या उत्पन्न हो सकती है। संतान सुख में कुछ दिक्कते आने वाली है। खेल-प्रतियोगिता में सफलता उंचाईयों पर ले जा सकती है। मान-सम्मान, पद-प्रतिष्ठा मिलने वाली है।
  • घर से दूर जाना पड़ सकता है। मित्रों के साथ मेलजोल बढ़ने वाला है। मांगलिक समारोह में शामिल होंगे। वाहन चलाते समय सतर्क रहे। बैंकिंग क्षेत्र तथा वित्तीय क्षेत्र से जुड़े लोगों के लिए यह महीना तनाव बढ़ाने वाला है।
  • शेयर मार्केट में काम करने वाले लोगों को लाभ होगा। वैवाहिक जीवन में उतार-चढ़ाव देखने को मिलने वाले है।  
मीन
  • इस..
Read Full Article
  • Show original
  • .
  • Share
  • .
  • Favorite
  • .
  • Email
  • .
  • Add Tags 

दोस्तों आपको नववर्ष 2019 की बहुत बहुत शुभकामनाएं- यह वर्ष आपके लिए ढेर सारी खुशिया लेकर आये यही हम अपनी संस्थान की ओर से कामना करते है।

कर्क वार्षिक राशिफल 2019

हम सभी जानते है की नया साल आने के पहले ही हमारे मन में अपने भविष्य के बारे में जानने की जिज्ञासा जागृत होती है, की यह नया साल हमारे लिए किस प्रकार से व्यतीत होने वाला है, क्या इस वर्ष हमारा व्यवसाय प्रगति करेगा? क्या हमें अपना मनचाहा साथी मिलेगा? घर में सुख-शांति बनी रहेगी? संतान सुख मिलेगा? हमारे पास धन-संपत्ती आएगी? स्वास्थ्य कैसा रहेगा?

न जाने कितने सवाल मन में उत्पन्न होते है, उन सवालों के जवाब पाने के लिए ही हमारे अनुभवी ज्योतिषाचार्यों ने आपके लिए वर्ष 2019 का वार्षिक राशिफल विभिन्न 12 राशियों के अनुसार आपके लिए तैयार किया है। सौर मंडल में स्थित 9 ग्रहों की चाल तथा उनका विभिन्न 12 राशियों पर पड़नेवाला सकारात्मक तथा नकारात्मक परिणाम क्या होगा आइये अब हम जानते है।

राशिफल 2019 के अनुसार कर्क राशि के जातकों को इस साल मिलेजुले परिणाम प्राप्त होंगे। आइए अब हम देखते है कर्क राशि के जातकों के लिए वर्ष 2019 में करियर कैसा रहने वाला है।

Rashi Gem Stones

करियर
  • कर्क राशि के जातकों के लिए यह वर्ष अच्छा साबित होनेवाला है।
  • आपको  मेहनत का फल अवश्य मिलने वाला है, इस वर्ष में मार्च तक का समय करियर के लिए अच्छा है, सरकारी नौकरी की तलाश कर रहे लोगों को मनवांछित सफलता मिलने के प्रबल योग बने हुए है, इस अवधि में आपको नौकरी या व्यवसाय में शुभ समाचार की प्राप्ति हो सकती है।
  • नौकरी पेशा जातकों को पदोन्नति और वेतन वृद्धि होने की संभावना है। जो जातक नौकरी की तलाश कर रहे है उन्हें साल ख़त्म होने से पहले नौकरी मिल सकती है।
  • जो जातक व्यवसाय में प्रगति करना चाहते है या अपना व्यवसाय बड़े पैमाने पर करना चाहते है, उनके लिए भी यह साल अच्छा रहने वाला है।
  • इस साल नौकरी पेशा और बिजनेस करने वालों जातकों के लिए सबसे जरूरी सलाह है कि, वे किसी भी तरह के विवाद में ना पड़े।
  • अपने क्रोध पर नियंत्रण रखे तथा कोशिश करें कि सभी समस्याओं और विवादों का हल बातचीत के जरिये शांतिपूर्ण तरीके से और आपस के तालमेल से हो।
  • जो जातक सरकारी नौकरी में है उनके पदोन्नती के लिए यह वर्ष अच्छा है।
  • काम के सम्बन्ध में कोई भी फैसला जल्दबाजी में ना करे, सोच समझकर ही किसी नतीजे पर पहुंचे।

Buy Ruby Online

पारिवारिक जीवन
  • इस वर्ष पारिवारिक सुख के लिए बेहद ख़ास है। घर में माता-पिता का स्नेह और सहयोग हर कदम पर आपको मिलने वाला है।
  • इस वर्ष के शुरुआत में ही आपको शुभ समाचार मिलने वाला है, आपके घर कोई शुभ कार्य साकार होने वाला है। घर में मेहमानों का आना-जाना लगा रहेगा।
  • मई-जून के दौरान तथा नवंबर-दिसम्बर के दरम्यान घर में आपका या घर के किसी सदस्य का स्वास्थ्य खराब होने के कारण धन के साथ साथ मानसिक चिंताए परेशान करेंगी इसलिए अभी से सतर्क रहे।
  • घर-परिवार में सभी का स्नेह मिलेगा। भाई-बहनों के साथ छोटी-छोटी बातों पर बहस होगी परन्तु थोड़ी ही देर में सब कुछ सही होगा।
  • परिवार के साथ तथा मित्रों के साथ यात्रा होगी तथा उनके साथ अच्छा समय व्यतीत करने के लिए यह वर्ष अच्छा है।
  • घर-परिवार में शादी नए घर का मुहूर्त, पूजा आदि का आयोजन होगा, मन प्रसन्न रहेगा, बहुत दिनों के बाद किसी से मिलने का मौका मिलेगा। कुल मिला कर यह वर्ष पारिवारिक सुख के लिए अच्छा है।
  • वैवाहिक जीवन का सुख भी अच्छा मिलने वाला है। पति-पत्नी के बीच छोटी-छोटी बात को लेकर वाद-विवाद होते रहेंगे पर उसका असर परिवार के अन्य सदस्य पर कम देखने को मिलेगा।

Buy Emerald

आर्थिक स्थिति
  • इस वर्ष आपको धन के मामलों में सराहनीय उपलब्धिया प्राप्त होने वाली है, विशेषकर इस वर्ष के शुरुआती महीनों में अच्छा धन लाभ होगा। यह साल आपके लिए धन अर्जित करने तथा काम के नवीन अवसर लेकर आ रहा है।
  • आपकी आर्थिक स्थिति मजबूत रहने वाली है, कार्यक्षेत्र तथा समाज में आपको मान-सम्मान मिलने वाला है। आपको अपने खर्चों पर नियंत्रण रखने की आवश्यकता है नहीं तो आर्थिक समस्या उत्पन्न होने में देर नहीं लगेगी, इसलिए जब भी धन खर्च करना हो फालतू के कामों पर ना करे हालांकि आर्थिक मामलों के लिहाज से थोड़ा संभलकर चलने की जरुरत है।
  • आप यदि अपना कोई नया व्यवसाय करने की सोच रहे है तो उसमें आपको धन लाभ होगा। पहले से ही चला आ रहा काम का विस्तार करने के लिए यह अच्छा साल है।
  • साल के मध्य में खर्च थोड़े बढ़ सकते हैं लेकिन चिंता ना करें, क्योंकि खर्च बढ़ने के साथ-साथ आय में भी बढ़ोत्तरी होगी। इस वर्ष लॉटरी, पॉलिसी तथा शेयर बाज़ार में पैसे लगाने को लेकर लापरवाही ना बरतें अन्यथा परिस्थितियां आपके अनुकूल नहीं रहेंगी।
  • धन के मामले में सावधनी बरतेंगे तो निश्चित रूप से यह वर्ष 2019 आपके लिए बेहतर है।
संतान
  • इस वर्ष के शुरुआत से ही आपकी संतान आपके लिए परेशानिया उत्पन्न करने वाली है। संभव है की आपको संतान के कारण कोर्ट-कचेहरी के चक्कर काटने पड़े।
  • अपनी संतान की संगति पर जरुर ध्यान दे, हो सकता है वह गलत कार्य में लिप्त हो जाए, जो आपकी परेशानियों का कारण बने। बच्चो में इस वर्ष जिद पर अड़ने की आदत हद से ज्यादा बढ़ने वाली है, इसलिए अपने बच्चों की आदत में सुधार लाने की कोशिश करे उनको प्यार से समझाए क्योंकि आजकल के बच्चे बहुत ज्यादा गुस्सा करने वाले स्वभाव के बन गये है,  बच्चों को डांटने की बजाय प्यार से समझाएं।
  • बरसातों के दिनों में बच्चों की सेहत पर अधिक ध्यान देना होगा। इस दौरान बच्चों को इंफेक्शन और बदलते मौसम की बीमारी की समस्या हो सकती है। ऐसी स्थिति में तुरंत डॉक्टर से सलाह लें।
  • इस साल बच्चों की सेहत के मामले में किसी तरह की लापरवाही ना बरतें वरना बड़ी परेशानी का सामना करना पड़ सकता है। हो सकता है उन्हें अस्पताल में कई दिनों तक रहना पड़े, उनके खाने-पिने को लेकर सतर्क रहे पेट से सम्बंधित दिक्कते हो सकती है कुल मिलाकर इस वर्ष संतान सुख में कमी का सामना करना पड़ सकता है।  

Free Janm Kundli

शिक्षा
  • जो छात्र जीवन में आगे प्रगति पथ पर चलना चाहते है, उनके लिए यह साल 2019 अच्छा रहेगा। इस वर्ष आप जितना परिश्रम करोगे, जितना पढाई को लेकर सतर्क रहेंगे उतनी ही आपको कामयाबी मिलेगी।
  • इस वर्ष के छमाही के बाद आप पढाई के सिलसिले में विदेश यात्रा करेंगे तथा आपका प्रदर्शन शानदार रहनेवाला है। आपका एडमिशन बड़े संस्थान में होगा।
  • आप अपने माता-पिता को कोई शुभ समाचार देने वाले है, हो सकता है आप टॉप करे।
  • सरकारी नौकरी, सिविल सेवा, इंजीनियरिंग, मेडिकल, मैनेजमेंट, एमबीए जैसे एग्जाम की तैयारी कर रहे हैं तो आपको इस क्षेत्र में सफलता मिलने की प्रबल सम्भावना है, इसलिए अपने प्रयास जारी रखें और अच्छे परिणाम के लिए कड़ी मेहनत करते रहें।
  • यह आपके करियर के लिए एक बेहतरीन अवसर होगा। माध्यमिक तथा उच्च माध्यमिक शिक्षा ग्रहण करने वाले छात्रों का मन पढाई से भटक सकता है, विपरीत परिणाम मिल सकते है इसलिए अभी से सतर्क हो जाइए तथा अपनी पढाई पर ध्यान केन्द्रित कीजिये।
  • पढाई को बोझ ना समझे प्यार और आराम से पढाई करे अपना ध्यान रखे अपनी सेहत का ध्यान रखे फिजूल की बाते दिमाग से निकाल दीजिये, फिर देखिये आपके अंक कितने अच्छे आते है कुल मिलाकर साल 2019 आपके लिए बेहतरीन है।
स्वास्थ्य
  • इस वर्ष स्वास्थ्य के लिए बहुत अच्छा नहीं माना जायेगा। भविष कथन 2019 के अनुसार इस वर्ष आपकी सेहत थोड़ी खराब रहने वाली है।
  • मानसिक तनाव के कारण स्वास्थ्य खराब रहने के योग बन रहे है । बेहतर होगा कि किसी भी तरह का काम का तनाव ना ले। घर-परिवार में होनेवाले विवाद या काम से सम्बंधित दिक्कते है तो आप उन्हें ज्यादा तूल ना दें वरना इनसे मानसिक तनाव और चिंता बढ़ सकती है।
  • इस वर्ष विदेश यात्रा भी हो सकती है इसलिए इस दौरान आरामदायक कपड़े पहनें और हल्का आहार लें ताकि सफर में किसी तरह की कोई परेशानी ना हो।
  • अगस्त से सितंबर के मध्य काल में सिरदर्द, बुखार, खांसी-जुकाम आदि आपके स्वास्थ्य पर प्रतिकूल असर डाल सकते है।
  • फ़ास्ट-फ़ूड से दूर रहे और साधा भोजन ग्रहण करे अन्यथा पीलिया, लिवर से सम्बंधित दिक्कते हो सकती है, इसके अलावा अनिद्रा की शिकायत भी रह सकती है।
  • कोई पुराना रोग इस वर्ष आपको परेशान क्र सकता है, अपने खाने-पिने का विशेष ध्यान रखे और तरल पदार्थ और पानी का सेवन अच्छी मात्रा में कीजिये यदि आप योगाभ्यास करते है तो यह भी आपके स्वास्थ्य के लिए उत्तम रहेगा।
  • इस वर्ष थकावट अधिक स्तर पर महसूस होगी। बरसात के मौसम में सावधानी बरते अन्यथा जोड़ों के दर्द, सांस से सम्बंधित दिक्कते आपको परेशान कर सकती है।
प्रेम सम्बन्ध
  • यह वर्ष आपके प्रेम संबंधों के लिए बहुत ही बेहतरीन और यादगार रहने वाला है। जो लोग अभी सिंगल है उनको अपना लव पार्टनर इस वर्ष मिलनेवाला है।
  • आप इस साल कई बार लॉन्ग ड्राइव पर जायेंगे। आपका अधिकतर समय अपने लव पार्टनर के साथ व्यतीत होगा।
  • इस वर्ष के मध्यकाल में कुछ अनबन होने के योग बन रहे है, समय रहते अपने रिश्तों में सुधार लाये हो सकता है, इसके बाद आपका रिश्ता पहले की अपेक्षा और मजबूत हो और आप दोनों के बीच आपसी विश्वास और बढ़े ।
  • ग्रहों की चाल आपके प्रेम सम्बन्ध विवाद के बंधन में बंधने की और इशारा कर रहे है। इस वर्ष आप अपने लव पार्टनर की भावना को समझेंगे, यदि अलग होने जैसी कोई स्थिति बनती है तो अपना धैर्य ना खोए और एक-दूसरे को समझने की कोशिश करे।

किसी भी जानकारी के लिए Call करें :  8882540540

ज्‍योतिष से संबधित अधिक जानकारी और दैनिक राशिफल पढने के लिए आप हमारे फेसबुक पेज को Like और Follow करें : AstroVidhi Facebook

The post कर्क वार्षिक राशिफल 2019 – कैसा रहेगा कर्क राशि के लिए 2019? appeared first on AstroVidhi.

Read Full Article

Read for later

Articles marked as Favorite are saved for later viewing.
close
  • Show original
  • .
  • Share
  • .
  • Favorite
  • .
  • Email
  • .
  • Add Tags 

Separate tags by commas
To access this feature, please upgrade your account.
Start your free month
Free Preview